Headlines
Loading...
Most beautiful and secrets tourism places to visit in Uttarakhand : Travel guide

Most beautiful and secrets tourism places to visit in Uttarakhand : Travel guide

TOP 4 Most Beautiful And Secrets Places To Visit In Uttarakhand 

अगर आप उत्तराखंड घूमने की तैयारी में हैं और अभी तक आपको समझ नहीं आ रहा की कौन कौन सी जगहें हैं जहां आपको जाना चाहिए ,  तो हम आपको बताने वाले हैं Most beautiful and secrets tourism places to visit in Uttarakhand। 



इन places पर विजिट करना आपके लिए काफी किफायती और रोमांचक हो सकता है।  


तो चलिए शुरू करते हैं रोमांच के इस सफर को 

Mana village - 

उत्तराखंड के चमोली district में स्थित Tourism Village के नाम से मशहूर सीमांत गांव, माणा  समुद्र तल से 3200 m की ऊंचाई पर सरस्वती नदी के तट पर स्थित है, यह खूबसूरत गांव  भारत-चीन सीमा से लगभग 24 किमी दूर है, जिस वजह से इसे भारत का आखिरी गांव भी कहा जाता है। 


Mana Village atmosphere and Best time to visit  

माणा की atmosphere की बात करे तो चारो और से हरे भरे खूबसूरत पहाड़ों से घिरे होने के कारण यहां ताजगी और नयेपन का अहसास हर पल हो जाता है।  हिमालयी क्षेत्र होने के कारण यहां ठंडी ठंडी हवाएं और गुनगुनी धुप आपको अलग ही लेवल का नेचर एक्सपीरियंस देता है। 

वैसे तो नवंबर की शुरुआत से ही यहां पहुंचा जा सकता है लेकिन मई-जून का महीने में यहां अलग ही रौनक आ जाती है जो की मानसून के अंत यानि की जुलाई-सितंबर तक बनी रहती है।   


क्यूंकि माणा एक दुर्गम क्षेत्र है तो यहां आपको कोई ज्यादा कुछ luxurious नहीं मिलने वाला लेकिन adventure और रोमांच  भर भर के मिलने वाला है तो अगर आप अपनी लाइफ में adventure की तलाश में हैं तो ये आपके लिए बेस्ट प्लेस हो सकता है।  


Attractions और nearby places to visit in Mana Village 

अगर आसपास के Attractions और nearby places to visit in Mana की बात करे तो माणा बद्रीनाथ से मात्र 3 KM पर स्थित है इसके अलावा आप  Vasudhara falls, Vyas Gufa, Tapt Kund, Bheem Pul, Ganesha Gufa, Neelkanth जैसे खूबसूरत स्थानों पर विजिट कर सकते हैं, साथ ही आप  Mana To Satopanth, Mana to Mana Pass, Mana to Charanpaduka, Mana to Vasudhara, जैसे Best treks route के लिए ट्रैकिंग भी कर सकते हैं जो की बेहद रोमांचक और खूबसूरत सफर है।  इस के अलावा अगर आपके पास काफी समय है तो आप valley of  flowers भी विजिट कर सकते हैं। 


How to Reach Mana Village 

माणा पहुंचने के लिए आपको NH-58 से जुड़े बद्रीनाथ या जोशीमठ तक पहुंचना होगा, जहां पहुंचने के लिए आपको ऋषिकेश हरिद्वार या देहरादून  व् अन्य प्रमुख शहरों से आसानी से साधन मिल जायेंगे।  तो ज्यादा सोचिये नहीं और अपना बेग पैक कर दीजिये एक रोमांचक सफर के लिए।  


Chopta - 

Mini Switzerland of Uttarakhand के नाम से मशहूर  secret tourist place चोपता 2,608 m की ऊंचाई पर  उत्तरखंड के rudraprayag जिले में स्थित है। chopta एक छोटा सा Hill Town है जो kedarnath Musk Deer Sanctuary के अंतर्गत आता है। प्रकृति की अपार खूबसूरती के बावजूद यह टाउन अभी भी पर्यटकों के काफी नया और बेहद आन्दित करने वाला है। 

हाल फ़िलहाल में  chopta camping के लिए काफी मशहूर होता जा रहा है, यहां हरे भरे मखमाली बुग्याली मैदानों के बीच विभिन्न पक्षियों और कस्तूरी मृग की विभिन्न प्रजातियों के साथ-साथ विविध हिमालयी वनस्पतियों-जीवों को यहां देखा जा सकता है।


Chopta atmosphere and Best time to visit  

काफी ऊंचाई पर स्थित होने कारण यहां सर्दियों में बर्फ की चादर बिछी रहती है जिसके चलते सर्दियों में भी सैलानियों के लिए ये एक अच्छा विंटर डेटिनेशन है इसके आसपास के क्षेत्र तुंगनाथ मंदिर और चंद्रशिला में भी दिसंबर से मार्च तक बर्फ देखी जा सकती है।  

वहीं अगर गर्मियों की बात करे तो अप्रैल, मई और जून के महीने यहां सैलानियों की चलपहल काफी बढ़ी रहती है क्युकी इस वक्त यहां का मौसम बहुत सुहाना  और वातावरण का तापमान सामान्य रूप से उच्च बना रहता है जिससे यहां पर स्पष्ट और सुखद मौसम की स्थिति का अनुभव होता है। 


Attractions और nearby places to visit in Chopta Hill Station 

चोपता खुद में ही बेहद खुबसुरत स्थान है यहां मौजूद मखमली बुग्याल और यहां का शानदार वातावरण आपको इस स्थान पर बने रहने को 

प्रेरित करते हैं , चोपता से 3 - 4 KM की दुरी पर स्थित पांच केदारों में से एक तुंगनाथ महादेव का मंदिर स्थित है जहां से आप  Chopta Tungnath trekking route  और Chopta Chandrashila Trek route का आनंद ले सकते हैं। 

इन के अलावा kedarnath , Ukhimath , Deoria Tal ,  Kalimath , Bisurital , Kanchula Kharak Musk Deer Sanctuary , kartik swami temple ,Rohini Bugyal जैसे अनेकों खूबसूरत और रोमांचित करने वाले  स्थानों पर आप विजिट कर सकते हैं। 


How to Reach Chopta 

चोपता हिल स्टेशन पहुंचने के लिए आपको प्रमुख शहरों देहरादून, ऋषिकेश, हरिद्वार से आसानी से सड़क मार्ग , हवाई मार्ग या रेल मार्ग के साधन मिल जाते हैं।  चोपता क्षेत्र को एक्स्प्लोर करने के लिए सबसे अच्छा साधन आपके लिए लोकल ट्रेकर या टैक्सी हो सकती है जो आपको किफायती दाम पर पूरा टाउन और आसपास के प्लेसेस पर विजिट करवा सकते हैं। 


Kausani 

Mini Switzerland of Uttarakhand  के बारे में जानने के बाद Switzerland of India के नाम से जाने जाने वाले Kausani Hill Station 

उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र के बागेश्वर जिले में 1,890 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।  

कसौनी अपने 300 किमी चौड़े क्षेत्र में फैले प्राकृतिक दृश्यों के लिए प्रसिद्ध हिल स्टेशन है, जो अपने प्राकृतिक वैभव और हिमालय के शानदार  मनोरम दृश्य के लिए प्रसिद्ध है।  यहां से  दिखने वाले त्रिशूल, नंदा देवी, नंदाकोट और पंचचुली चोटियों के मनोरम दृश्य किसी को भी आकर्षित कर सकते हैं।  महात्मा गांधी जी इस स्थान से इतने प्रेरित हुवे की उन्होंने इसे "भारत का स्विट्जरलैंड' कहा था। 


Kausani atmosphere and Best time to visit  

प्रकृति की गोद में बसा और बर्फ की चादर से ढका कौसानी, प्रकृति का उपहार है यहां का वातावरण साफ स्वच्छ और स्वस्थ वर्धक है , सर्दिओं के समय यह स्थान काफी बर्फ से ढका रहता है।  यहां के हरे-भरे जंगल, ऊंचे-ऊंचे पहाड़, साफ और नीला आसमान, खूबसूरत झीलें और न जाने ऐसे ही कितने खूबसूरत नजारों की वजह से यह जगह सैलानियों की सबसे पसंदीदा जगह बन गयी है।  वैसे तो आप यहां साल में कभी भी आ सकते हैं लेकिन अप्रैल से जून के बीच में कौसानी घूमने का अलग ही मजा है इस समय यहां का मौसम काफी खुशगवार रहता है। 

Attractions और nearby places to visit in Kausani Hill Station 

Kausani Hill Station visit में आपको अनेकों natural attractions तो देखने को मिलेंगे ही लेकिन यहां Gandhi Ashram, Baijnath Temple, Shawl Factory, Girihas Tea factory भी दर्शनीय हैं। यह स्थान समृद्ध जैव विविधता से संपन्न है यहां पर्यटक माउंटेन बाइकिंग, रॉक क्लाइम्बिंग, रैपलिंग, ट्रेकिंग, कैंपिंग, म्यूजियम विजिट, शॉपिंग और बर्डवॉचिंग जैसी विभिन्न गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं।   

How to Reach Kausani 

कौसानी पहुंचने के लिए हवाई, रेल और सड़क मार्ग से आसानी से साधन मिल जाते है। यहां पहुंचने के लिए निकटतम एयरपोर्ट पंतनगर है। जबकि सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन काठगोदाम है। काठगोदाम से आसानी से आप सड़क मार्ग द्वारा कौसानी पहुंच सकते हैं। 

Bhimtal  

बाबा नीम करोरी के धाम कैंची धाम, भवाली से मात्रा 11 KM की दुरी पर भीमताल 1370 मीटर ऊंचाई पर उत्तराखंड के नैनीताल जिले में  

स्थित है। इस स्थान को Bhimtal lake के लिए जाना जाता है जो की nainital lake से बड़ी है  भीमताल झील के केंद्र में एक छोटा सा द्वीप है जिस पर एक सुंदर एक्वेरियम है। भीमताल झील का नाम पांडवा भीम के नाम पर है , यहॉ पर सत्रवहीं शताब्दी का बना भगवान भीमेश्वर महादेव का मंदिर है।  

Bhimtal atmosphere and Best time to visit   

भीमताल शांतिपूर्ण और सुहाने मौसम वाला शहर है, यहां साल भर खुशनुमा मौसम रहता है जिसमे की पर्यटक paddling और boating का आनंद ले सकते है।  कभी कभार भीमताल में दिसंबर में बर्फबारी हो जाती है लेकिन हर साल ऐसा नहीं होता है यहां सर्दियाँ काफी सर्द होती हैं । यदि आप अपने दोस्तों या परिवार के साथ बर्फबारी देखना चाहते हैं तो इस महीने भीमताल घूमना एक अच्छा समय हो सकता है ।

क्यूंकि भीमताल में साल भर मौसम खुशनुमा रहता ह तो आप कभी भी यहां घूमने आ सकते हैं। 

Attractions और nearby places to visit in Bhimtal Lake 

भीमताल शहर ने अपने अद्वितीय ऐतिहासिक स्थलों और खूबसूरत स्थानों के लिए जाना जाता है यहां की प्राकृतिक खूबसूरती और ऐतिहासिक इस छोटे से शहर को खास बनती है।  नैनीताल की खुबसुरत झील के बारे कौन नहीं जनता लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की भीमताल की झील नैनीताल की झील से भी बड़ी और आकर्षक है।  भीमताल में अनेक पर्यटन स्थल हैं जहां यात्री फुर्सत के पल बिता सकते हैं। आप Bhimtal Aquarium, Bhimtal Lake, Victoria Dam, Bhimeshwar Temple, Garg Parwat, Nal Damyanti Tal, Hidimba Parvat, Butterfly Research Centre , Naina Peak , आदि nearby places visit कर सकते हैं और एक शानदार chhutiyon का आनंद ले सकते हैं 

How to Reach Bhimtal 

भीमताल शहर अपने आस-पास के शहरों और राज्यों से हवाई और सड़क मार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। यहां तक पहुंचने के लिए आप फ्लाइट या ट्रेन भी ले सकते हैं। मात्र 56 किमी की दुरी पर Pantnagar airport है जबकि Kathgodam niktm रेलवे स्टेशन है जो की city से लगभग 8 km पर है।  


Also Read - The Valley Of Flowers : रहस्य और विज्ञान

0 Comments: