Secure Facebook Account from Hackers (हैकर्स से फेसबुक अकाउंट सुरक्षित करें




आज सोशल मीडिया के दौर में हर कोई ट्रेंड में बने रहने के लिए Facebook , Instagram या Twitter  जैसे popular social media platform में एक्टिव रहना चाहता है तब वो images post करके हो या memes या फिर chatting के जरिये अपने दोस्तों - रिश्तेदारों से जुड़ा रहना हो, लेकिन digital media के बदलते स्वरूप ने सोशल मीडिया को images या memes शेयर करने तक ही सीमित नहीं कर दिया है बल्कि आज हम video call  , gamimg , video streming से लेकर online shopping  तक सब कुछ social media प्लेटफार्म के जरिये कर रहे है  जहां हमे हजारों लिंक्स, इमेजेज , वीडियोस , एप्प्स हर दिन देखने को मिलते है, सोशल मीडिया हमारे जीवन में इस तरह से जगह बना चूका है की हम यह नहीं समझ पाते किस लिंक, इमेजेज या अन्य तरिके से आपका account भी hack  हो सकता है, जो की कहीं बार भरी नुकसान का कारण भी बन सकता है तब यह नुकसान आर्थिक हो या फिर सोशल।  जैसा की हम सब जानते हैं की फेसबुक one of the top social networking site है ,हालिया रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक पर 1.6 Billion Active User हैं शायद यही सबसे बड़ा कारण है कि आपको अपने फेसबुक अकाउंट को हैकर्स से सुरक्षित करने की आवश्यकता है। 


कुछ के लिए, यह मूर्खतापूर्ण लग सकता है। लेकिन, आपको हर दिन होने वाले Facebook account hacking attempts पर नजर डालनी चाहिए। समय के साथ हैकर्स ने Unauthorized Access बंनाने के लिए अपनी तकनीकों में सुधार किया है अब यह पासवर्ड-अनुमान लगाने जैसा नहीं है। यहां तक ​​कि आपकी कुछ छोटी-छोटी गलतियां Privacy Loss  और Unsafe Social Network Environment को बढ़ाने के लिए आमंत्रित कर सकती है । एक Experienced Hacker को एक असुरक्षित खाते (Vulnerable account ) हैक करने में कुछ सेकंड लगते हैं। जबकि कुछ Security tips आपके Facebook Account को संभावित हमलों से सुरक्षित करने में आपकी सहायता कर सकता है। पीस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं की फेसबुक अकाउंट को हैकर से कैसे सुरक्षित रखें, फेसबुक कैसे काम करता है और हमारे फेसबुक अकाउंट को कैसे हैक किया जा सकता है और हम कैसे सुरक्षित रह सकते हैं (How To Secure Facebook Account from Hacker  , How Facebook works And how our Facebook accounts can be hacked and how we can be safe  )  


How Facebook accounts can be hacked  (फेसबुक अकाउंट को कैसे हैक किया जा सकता है) -


अगर आप इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं तो आपके मन में भी एक न एक बार यह ख्याल जरुरु आया होगा की आखिर facebook hack कैसे किया जा सकता है , और हो सकता है अपने गूगल पर सर्च भी जरूर किया होगा , जब हम कुछ साइटें या टूल का प्रयोग करते हैं तो देखते है की साइट दवा करती है की वे केवल username या e-mail id  टाइप करके Facebook passwords hack  कर सकता है, क्या सच में इतना आसान है फेसबुक हैक करना ? जी बिलकुल भी नहीं अगर ऐसा होता तो फेसबुक आज तक बंद न हो जाता।  तो चलिए बताते है आपको कुछ तरिके जिनसे आपका फेसबुक अकाउंट हैक हो सकता है या हो ही जाता है । 


Facebook hacking method and techniques to be safe (फेसबुक हैकिंग के तरीके और सुरक्षित रहने की तकनीक )-


जब हम फेसबुक हैकिंग सीखने की कोशिश करते हैं तो हमें कुछ चीजों को समझने की आवश्यकता होती है जैसे कि फेसबुक कैसे काम करता है यानि कि वेबसाइट के कामकाज को समझना, फेसबुक के Database management systems को समझना, उपयोग की गई Scripts, cookies  या किस programing language में बनाई गयी है यह जानना शामिल है। 


इसके बाद वेबसाइट के पुरे सिस्टम में कमी यानि vulnerabilities तलाश कर Suitable payloads का प्रयोग कर Code exploits के जरिये वेबसाइट के सिस्टम में घुसते है इसके बाद डेटाबेस की जांच करने व passwords decrypt करते  है अब अंतिम चरण में अगली बार के आसान एक्सेस के लिए एक backdoor सेट किया जाता है, तथा अपने निशान को साफ़ करते है ताकि पकड़ में न आये। 

तो चलिए जानते है वे कौन कौन से संभावित तरिके हो सकते है जो आपके अकाउंट के हैक होने का कारण बन सकते हैं और इनसे कैसे आप अपना अकाउंट बचा सकते है 



By Phishing (फिसिंग) -


किसी के फेसबुक अकाउंट को हैक या ऑनलाइन ठगी करने के लिए फ़िशिंग सबसे जाना पहचाना तरीका है अपने कहीं बार न्यूज़ में भी सुना होगा की फेक वेबसाइट बना के पैसे ठग लिए या फेक e -कॉमर्स वेबसाइट बना कर लूट लिया, दरसल फ़िशिंग का सबसे जायदा प्रयोग होने वाला तरीका है, की किसी साइट का हूबहू एक नकली लॉगिन पेज बना कर  ई-मेल या एसएमएस या सोशल मीडिया द्वारा आपको लुभावने टाइटल के साथ पेज का लिंक भेज दिया, आपको लगेगा की लॉगिन पेज बिल्कुल फेसबुक या उसी साइट लॉगिन पेज है और आप अपना पासवर्ड या अन्य जानकारी उसमे साझा कर देते हैं अब हैकर आपकी जानकारी प्राप्त कर लेता है और आसानी से आपके अकाउंट पर कब्जा कर देता है ।




How to be safe from phishing Attack (फ़िशिंग अटैक से कैसे सुरक्षित रहें) 


तो जैसा हम कुछ समझ चुके है की फ़िशिंग क्या होती है और कैसे फ़िशिंग अटैक काम करता है तो आपको निश्चित ही कुछ आईडिया आ चूका होगा की इससे कैसे बचा जा सकता है अगर नहीं भी तो हम बता देते है 


  • Never click on an unknown link through email/website/chat room or text messages (ईमेल / वेबसाइट / चैट रूम या टेक्स्ट संदेशों के माध्यम से कभी भी किसी अज्ञात लिंक पर क्लिक न करें) 

  • we need to check the link properly to driving to original Facebook / website (हमें ओरिजिनल फेसबुक / वेबसाइट पर ड्राइविंग के लिए लिंक को ठीक से जांचना चाहिए) 

  •  We should use antivirus and web-security software in our system as much as possible (हमें अपने सिस्टम में एंटीवायरस और वेब-सुरक्षा सॉफ़्टवेयर का उपयोग यथासंभव करना चाहिए)




Hacking By the email /contact Or Device  (ईमेल / संपर्क या डिवाइस द्वारा हैकिंग)-


किसी भी हैकर के लिए  ईमेल या कांटेक्ट नंबर हैक के जरिये आपका फेसबुक अकाउंट हैक करना भी एक आसान रास्ता रहता है दरसल ऐसे कहीं तरीके हैं जिनसे अटैकर आपके सिस्टम पर अपना अधिकार स्थापित कर सकता है।  spyware attack  , social engineering attack , Adware या आपकी एक छोटी सी गलती से भी आपका ईमेल व कांटेक्ट नंबर पर bypass या फुल कंट्रोल किया जा सकता है। अक्सर Android devices इसके  आसान शिकार बन जाते हैं क्युकी हम अनजाने में  कितने ही थर्ड पार्टी ऍप्स को जाने कौन कौन सी Access permission एक क्लिक पर दे देते है। जो आगे चल कर हमारे निजी डेटा का प्रयोग करता है। 


How to be safe from Email /contact Or Device Hacking(ईमेल / संपर्क या डिवाइस हैकिंग से कैसे सुरक्षित रहें) 


  • We need create strong password  (हमें मजबूत पासवर्ड बनाने की आवश्यकता है)

  • Using a special email for Facebook would be better. We shouldn't tell anyone your that email id (फेसबुक के लिए एक विशेष ईमेल का उपयोग करना बेहतर होगा। हमें आपकी ईमेल आईडी किसी को भी नहीं बतानी चाहिए।) 

  • We should  avoid to use  third party software  (हमें थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर का उपयोग करने से बचना चाहिए) 

  •  We should use antivirus and web-security software in our system as much as possible (हमें अपने सिस्टम में एंटीवायरस और वेब-सुरक्षा सॉफ़्टवेयर का उपयोग यथासंभव करना चाहिए) 



 By Man in the Middle attack (मैन इन द मिडिल अटैक के जरिये ) -


अक्सर कहीं बार हम free wifi  के चककर में किसी भी public wifi  hotspot  से अपना Device Connect  कर देते है लेकिन हम यह नहीं जानते हैं की cyber  attacker आपकी इस कमजोरी का फायदा उठाने से नहीं चूकते हैं, दरसल man in the middle attack कुछ इसी तरीके से किया जाता है, जिसमे हैकर अपने लक्ष्य के करीब पहुंच जाता है और वह एक free fake  wifi network  बनाकर  MITM अटैक करता है वह लक्ष्य को अपने नेटवर्क के साथ जोड़ता है और Credentials चुरा देता है।  जब victim उस वाई-फाई से जुड़ जाता है तो वह फेसबुक या अन्य वेबसाइट द्वारा user व facebook के बीच भेजे जाने वाले Data packets का निरीक्षण कर सकता है तथा आपके जरूरी दस्तावेज या पासवर्ड चुरा लेता है 




How to be safe from MITM Attack (MITM अटैक से कैसे सुरक्षित रहें) -


  • Avoid to connect any open and unsecured Wi-Fi networks that are out of your place  (किसी भी खुले और असुरक्षित वाई-फाई नेटवर्क से कनेक्ट होने से बचें जो आपकी जगह से बाहर हैं।)

  • If your router asks to enter password for firmware upgrade then it might be someone trying to get your credentials (यदि आपका राउटर फर्मवेयर अपग्रेड के लिए पासवर्ड दर्ज करने के लिए कहता है, तो हो सकता है कि कोई व्यक्ति आपकी जानकारी पाने की कोशिश कर रहा हो।)



By Using Keylogger (कीलॉगर का उपयोग करके)  -


Keylogger एक ऐसी युक्ति है जिससे आपके keyboard  पर टाइप होने वाले वर्ड्स को ट्रेस किया जाता जाता है जिससे आप जब भी कुछ टाइप करते हैं तो वह save हो जाता है जिसका प्रयोग हैकर बाद में आपके पॉवर का पता लगाने के लिए कर सकता है सामान्यतः Keylogger दो प्रकार  के होते हैं Software KeyloggerHardware Keylogger।  जैसा की आप नाम से ही समझ सकते हैं की  Software Keylogger एक सॉफ्टवेयर के रूप में होता है जबकि  Hardware Keylogger एक डिवाइस के रूप में होता है 

Keyloggers से बचने के लिए आपको कभी भी किसी अन्य के डिवाइस के इस्तेमाल करने से पहले hardware Keylogger की जाँच कर लेनी किये जबकि Software Keylogger आमतौर पर इंटरनेट के माध्यम से जानकारी भेजते हैं, इसलिए firewall का प्रयोग करना चाहिए जो की  हमारे कंप्यूटर की ऑनलाइन गतिविधि पर नज़र रखेगा और पता लगाएगा कि कुछ भी संदिग्ध है या नही। 


इन सबके अतिरिक्त कुछ आसान से या यु कहें की सामान्य तरीके हैं जैसे वैचिंग typing passwords, same passwords in multiple sites, Easy Passwords, Reset the Password etc.


तो जैसा की अब हम कुछ समझ चुके हैं की कौन कौन से तरीकों से हमारा अकाउंट हैक हो सकता है और हम उनसे कैसे बच सकता हैं।  यहां हमने आपसे कुछ कॉमन तरीके शेयर किये हैं लेकिन technology हर दिन तेजी से update और upgrade होती रहती है बहुत से नए तरीके और bug आते जाते रहते है Cyber Security के आगे के आर्टिकल्स में हम ऐसे ही कुछ एडवांस तरीकों पर बात करेंगे।



Some General Yet Effective Security Tips to Secure Facebook Account from Hackers (फेसबुक अकाउंट को हैकर्स से सुरक्षित करने के लिए कुछ सामान्य फिर भी प्रभावी सुरक्षा युक्तियाँ)


  • अपना Account Password frequently बदलें 

  •  फेसबुक से अतिरिक्त सुरक्षा को सेट करें जैसे two factor authontication , Enable Unauthorized Account Login Alerts तथा यदि आप फेसबुक पर लॉक्ड हो जाते हैं तो इस इस्थिति के लिए Trusted Contacts चुने   

  • थर्ड-पार्टी फेसबुक ऐप्स का उपयोग करते समय सावधान रहें

  • हमेशा सुनिश्चित करें कि आप Secure channel के माध्यम से फेसबुक ब्राउज़ कर रहे हैं।  URL में, हमेशा HTTPS साइन की तलाश करें टंकी आप सिक्योर ब्राउज़िंग कर सकें।

  • कुछ लिंक और ऐप संदेशों पर क्लिक करने से पहले ध्यान दें। उनमें से कुछ आपको फ़िशिंग वेबसाइट पर निर्देशित कर सकते हैं, और इस तरह बहुत सारे मुद्दों का कारण बन सकते हैं।

  • समय समय पर जांचें कि आपके पोस्ट, फ़ोटो और सब कुछ तक किसकी पहुंच है। जब तक आवश्यक न हो, अपने अपडेट को अपने दोस्तों तक सीमित रखें

  • सार्वजनिक कंप्यूटर का उपयोग करने के बाद, अपने फेसबुक खाते से लॉग आउट करने के लिए एक मिनट का समय लें। 

  • यदि आप लॉग इन करते समय ’रिमेंबर मी’ विकल्प को enable कर चुके थे, तो केवल ब्राउज़र विंडो को बंद करना पर्याप्त नहीं होगा। इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि ब्राउज़र ने आपके पासवर्ड को स्वचालित रूप से नहीं सहेजा है

  • आपका सिस्टम में किस न किस प्रकार का फ़ायरवॉल होना चाहिए और किसी भी तरह का स्पाइवेयर या एडवेयर नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा है, तो ये सभी सावधानियां व्यर्थ हो जाएंगी।

  • अंतिम लेकिन बेहद जरूरी, फेसबुक लोगो या मिलते जुलते नाम वाली सभी वेबसाइट फेसबुक नहीं हैं। अपना उपयोगकर्ता नाम या पासवर्ड सबमिट करने से पहले आपको URL की जाँच करनी होगी। यह आपकी एक सामान्य आदत होनी चाहिए जो आपको हैकिंग हमलों और अन्य साइबर दिक्क्तों से बाहर निकाल सकती है।

1 टिप्पणियां

टिप्पणी पोस्ट करें

नया पेज पुराने